WI vs SL: 22 साल के बल्लेबाज का जबरदस्त धमाका, खत्म किया 20 साल का सूखा, संगाकारा-जयवर्धने को भी पछाड़ा

वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन श्रीलंका ने बेहतरीन बल्लेबाजी की और मेजबान टीम को 375 रनों का लक्ष्य दिया.

वेस्टइंडीज (West Indies) के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में के चौथे दिन श्रीलंका (Sri Lanka) ने जबरदस्त वापसी की. टीम ने वेस्टइंडीज के सामने दूसरी पारी में 375 रनों का लक्ष्य रखा और फिर जल्दी से विंडीज टीम को शुरुआती झटका दे दिया. श्रीलंकाई टीम को इस स्तर तक पहुंचाने में टीम के बल्लेबाजों ने बड़ी मेहनत की. टीम के अनुभवी बल्लेबाजों के अच्छे योगदान के बीच सबसे ज्यादा चर्चा बटोरी 22 साल के पतुम निसंका (Pathum Nissanka) ने. चर्चा हो भी क्यों नहीं. आखिर इस युवा बल्लेबाज ने अपने डेब्यू टेस्ट मैच में ही शतक जो जड़ दिया. वो भी टीम की दूसरी पारी में. निसंका की 103 रनों की पारी की मदद से श्रीलंका ने अपनी दूसरी पारी में 476 रन बनाए.

नॉर्थ साउंड में हो रहे टेस्ट सीरीज के पहले मैच के पहले दो दिन तो श्रीलंकाई टीम संघर्ष करती दिखी. टीम की पहली पारी सिर्फ 169 रनों पर सिमट गई. उसके बाद वेस्टइंडीज ने अपने निचले क्रम के बल्लेबाजों की मदद से 102 रनों की बढ़त हासिल कर ली. हालांकि, तीसरे दिन से श्रीलंका की वापसी का सिलसिला शुरू हुआ. लाहिरू थिरिमाने (76), निरोशन डिकवेला (96) और ओशाडा फर्नांडो (91) जैसे बल्लेबाजों ने टीम के लिए एक मजबूत नींव तैयार की.

टेस्ट डेब्यू में शतक, श्रीलंका को किया मजबूत

इस नींव पर रनों की बड़ी इमारत खड़ी करने का काम किया निसंका ने. श्रीलंका के घरेलू क्रिकेट में रनों का अंबार लगाने के बाद निसंका को इस आखिर श्रीलंकाई टीम में जगह बनाने का मौका मिला. वेस्टइंडीज दौरे पर पहले वनडे और टी20 में डेब्यू करने के बाद निसंका को पहले टेस्ट मैच में डेब्यू का मौका मिला. पहली पारी में टीम के बाकी सभी खिलाड़ियों की तरह वह भी कुछ नहीं कर सके और सिर्फ 9 रन बनाकर आउट हुए.

20 साल बाद पहले श्रीलंकाई बल्लेबाज

श्रीलंका के लिए डेब्यू टेस्ट पर शतक मारने वाले वह सिर्फ चौथे बल्लेबाज हैं. निसंका से पहले श्रीलंका के लिए ये काम थिलन समरवीरा ने किया था, लेकिन उन्होंने ये उपलब्धि 20 साल पहले हासिल की थी. समरवीरा ने भी 2001 में भारत के खिलाफ कोलंबो टेस्ट में 103 रनों की ही पारी खेली थी.

श्रीलंकाई क्रिकेट के दो सबसे बड़े बल्लेबाज महेला जयवर्धने और कुमार संगाकारा भी ये उपलब्धि हासिल नहीं कर सके, जो निसंका ने हासिल की है. निसंका के नाम फर्स्ट क्लास क्रिकेट की 59 पारियों में 3445 रन हैं, जिसमें 13 शतक और 13 अर्धशतक शामिल हैं. इतना ही नहीं, निसंका का बल्लेबाजी औसत भी 67 का है, जो कई बल्लेबाजों से काफी ज्यादा है.

Source – TV 9 Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *