मयूर शेलके की बहादुरी पर झूमा सोशल मीडिया, शुरू हुई इनामों की बारिश, आनंद महिंद्रा भी हुए फैन

Mayur Shelke Video

सेंट्रल रेलवे मुंबई डिवीजन में बतौर Pointsman काम करने वाले मयूर शेलके (Mayur Shelke) की बहादुरी का इन दिनों पूरा देश कायल हो गया है। एक अंधी मां के बच्चे को ट्रैन से बचाने वाला उनका वीडियो (Mayur Shelke Video) सोशल मीडिया (Social Media) पर खूब पसंद किया जा रहा है।

नई दिल्ली।
सेंट्रल रेलवे मुंबई डिवीजन में बतौर Pointsman काम करने वाले मयूर शेलके (Mayur Shelke) की बहादुरी का इन दिनों पूरा देश कायल हो गया है। एक अंधी मां के बच्चे को ट्रैन से बचाने वाला उनका वीडियो (Mayur Shelke Video) सोशल मीडिया (Social Media) पर खूब पसंद किया जा रहा है। कोरोना महामारी के बीच यह वीडियो लोगों के लिए एक बड़ी मिसाल है, जहां मयूर शेलके ने अपनी परवाह किए बगैर एक छोटे से बच्चे को बचाने के लिए अपनी जान की बाजी लगा दी। उनके इसी बहादुरी भरे कारनामे का अब महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैनआनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) और जावा मोटरसाइकिल्स (Jawa Motorcycles) के डायरेक्टर अनुपम थरेजा (Anupam Thareja) भी फैन हो गए हैं।

तोहफे में मिलेगी Jawa मोटरसाइकिल

क्लासिक लीजेंड्स के हेड अनुपम थरेजा ने ऐलान किया कि वो Jawa Heroes initiative के तहत शेलके को नई Jawa मोटरसाइकिल पेश करेंगे।

आनंद महिंद्रा भी हुए फैन

अनुपम थरेजा के अलावा महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने भी मयूर शेलके की तारीफ की। उन्होंने कहा, मयूर शेलके के पास पोशाक या टोपी नहीं थी, लेकिन उन्होंने सुपरहीरो की तुलना में अधिक साहस दिखाया। Jawa परिवार की तरफ से हम सभी उन्हें सलाम करते हैं। मुश्किल समय में, मयूर ने हमें दिखाया है कि हमें बस अपने आस-पास के लोगों को देखना होगा, जो हमें एक बेहतर दुनिया की राह दिखाते हैं।

रेलवे देगा 50,000 रुपये का इनाम

रेलवे ने मयूर शेलके को 50,000 रुपए का इनाम देने की घोषणा की है।

रेल मंत्री ने की जमकर तारीफ

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि शेलके ने जो बहादुरी दिखाई है उसके लिए कोई इनाम कम है।

50,000 रुपये का इनाम

एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रांसपोर्ट डेवलपमेंट ने शेलके को 50 हजार रुपये का इनाम दिया है।

बच्चे की मां ने दिया धन्यवाद

बच्चे की मां संगीता शिरसत के कहा कि शेलके ने जो बहादुरी दिखाई है उसके लिए उनका जितना भी धन्यवाद दिया जाए वह कम है।

Source – navbharat times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *