भारत के खिलाफ खेलकर श्रीलंका क्रिकेट को हुआ फायदा, 107 करोड़ रुपये कमाए

Sri Lanka Cricket

बीसीसीआई की मदद से श्रीलंका क्रिकेट को बड़ा फायदा हुआ है. बीसीसीआई श्रीलंका के खिलाफ तीन अतिरिक्त टी20 मुकाबले खेलने के लिए राजी हो गया था.

भारत और श्रीलंका के बीच हाल ही में लिमिटिड ओवर सीरीज का आयोजन किया गया था. इस सीरीज के तहत दोनों देशों के बीच तीन वनडे और तीन टी20 मुकाबले खेले गए. भारत के खिलाफ खेली गई इस सीरीज से श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड को बहुत बड़ा फायदा हुआ है. श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड लिमिटिड ओवर सीरीज के जरिए 107 करोड़ रुपये की कमाई करने में कामयाब रहा. 

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने बयान जारी कर अपनी कमाई का ब्यौरा दिया है. बयान में कहा गया, ”भारत के खिलाफ खेली गई सीरीज हमारे लिए काफी अच्छी रही. इस सीरीज से हमें 1.45 करोड़ डॉलर यानी 107 करोड़ रुपये हासिल हुए हैं.”

एफटीपी के मुताबिक भारत को श्रीलंका दौरे पर तीन वनडे मैच ही खेलने थे. लेकिन श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के कहने पर भारत तीन टी20 मैच भी खेलने के लिए राजी हो गया. इसी वजह से श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड का मुनाफा बढ़ गया. श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने कहा, ”यह दौरा केवल तीन वनडे मैचों के लिए था, लेकिन हमारे अध्यक्ष शम्मी सिल्वा बीसीसीआई को अतिरिक्त तीन टी20 मैच के लिए मनाने में कामयाब रहे, जिसके परिणामस्वरूप हमें फायदा हुआ.” 

आर्थिक हालत थी काफी खराब

डी सिल्वा ने कोविड -19 मामले के बावजूद दौरे को पूरा करने के लिए बीसीसीआई और भारतीय टीम को भी धन्यवाद दिया. कोरोना वायरस की वजह से श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड की आर्थिक हालत काफी खराब थी और खिलाड़ी बिना कॉन्ट्रैक्ट के ही खेल रहे थे. श्रीलंका क्रिकेट हालांकि अब वापसी के रास्ते पर है. श्रीलंका तीन वनडे और तीन टी20 मैचों के लिए 2-14 सितंबर तक दक्षिण अफ्रीका की मेजबानी करेगा.

श्रीलंका दौरे के लिए हालांकि बीसीसीआई ने अपनी लिमिटिड ओवर्स के खिलाड़ियों को भेजने का फैसला किया था. इस दौरे के जरिए उन खिलाड़ियों को भी डेब्यू करने का मौका मिल गया जो कि पिछले कई सालों से आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करते आ रहे थे. हालांकि टी20 सीरीज के दौरान क्रुणाल पांड्या के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की वजह से टीम इंडिया को काफी परेशानी भी झेलनी पड़ी. फिलहाल सभी खिलाड़ी अपना क्वारंटीन पीरियड पूरा कर इंडिया वापस लौट चुके हैं.

Source – ABP live

Leave a Reply

Your email address will not be published.