बड़ी खबरः श्रीलंका क्रिकेट को तगड़ा झटका, 18 शतक जड़ने वाले ओपनर समेत 15 खिलाड़ी छोड़ेंगे देश!

देश छोड़ने की तैयारी कर रहे क्रिकेटरों में कुछ राष्ट्रीय टीम का हिस्सा रह चुके हैं, जबकि कुछ फर्स्ट क्लास क्रिकेटर भी हैं.

श्रीलंकाई क्रिकेट (Sri Lankan Cricket) के दिन फिलहाल अच्छे नहीं चल रहे हैं. अपनी ही जमीन पर टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड के हाथों 2-0 से हुए सफाए के बाद अब श्रीलंका के कई क्रिकेटरों के देश छोड़ने की आशंका बढ़ गई है. श्रीलंका (Sri Lanka) के कई खिलाड़ी अपने देश के लिए क्रिकेट खेलना छोड़कर अमेरिका का रुख करने पर विचार कर रहे हैं, जिसने श्रीलंका क्रिकेट (SLC) में उथल-पुथल मचा दी है. टीम में उचित मौके न मिलने और वेतन में कटौती के कारण श्रीलंका के कई सीनियर और घरेलू क्रिकेटर अब देश छोड़कर अमेरिका में बसने पर विचार कर रहे हैं, जहां वे अमेरिकी क्रिकेट के लिए खेल सकते हैं. इन खिलाड़ियों में उपुल थरंगा (Upul Tharanga) और दुष्मंत चमीरा (Dushmant Chameera) समेत कम से कम 15 खिलाड़ियों के नाम हैं, जो अगले महीने तक अमेरिका का रुख करने की तैयारी में हैं.

श्रींलकाई अखबार ‘द मॉर्निंग’ की एक रिपोर्ट के अनुसार, ये क्रिकेटर अपने देश में सही मौके न मिलने और आर्थिक तौर पर भी अच्छा समर्थन न मिलने से हताश हैं और नए विकल्प तलाश रहे हैं. पिछले महीने ऑलराउंडर शेहान जयसूर्या के अमेरिका जाने के फैसले के बाद अब अन्य क्रिकेटर भी इसी रास्ते पर चलने का मन बना चुके हैं. इस स्थिति ने श्रीलंकाई क्रिकेट को मुश्किल में डाल दिया है.

उपुल थरंगा समेत 15 खिलाड़ी जाएंगे अमेरिका

रिपोर्ट के मुताबिक, श्रीलंका के सीनियर ओपनर उपुल थरंगा, तेज गेंदबाज दुष्मंत चमीरा, अमिला अपोंसो, मलिंडा पुष्पकुमारा, दिलशान मुनवीरा, लाहिरू मधुशनका, मनोज सरतचंद्रा और निशान पेरीस जैसे राष्ट्रीय टीम और फर्स्ट क्लास क्रिकेट के खिलाड़ी अमेरिका जाने का मन बना चुके हैं. ये खिलाड़ी मार्च तक अपने देश में क्रिकेट छोड़कर अमेरिका चले जाएंगे.

श्रीलंका में भविष्य अच्छा नहीं

अमेरिका जाने की तैयारी कर रहे एक क्रिकेटर ने कहा है कि देश में उनके लिए कोई भविष्य नहीं है और इसलिए अमेरिका जा रहे हैं, जो दुनिया के अलग-अलग देशों के क्रिकेटरों को मिलाकर एक नई टीम तैयार करना चाह रहा है. इस खिलाड़ी के मुताबिक, “क्रिकेट बोर्ड के पैसा घटाने और हमारा कॉन्ट्रेक्ट (दूसर दर्जे के खिलाड़ी) फिर से न बढ़ाने के हालिया फैसले के बाद कई खिलाड़ी जाने की योजना बना रहे हैं. वहां कम से कम सालाना 50 हजार डॉलर यानी करीब 97 लाख श्रीलंकाई रुपये दिए जाते हैं. बड़े स्तर पर खिलाड़ियों का पलायन होगा. श्रीलंका में हमारे लिए कोई अच्छा भविष्य नहीं है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *