चीन ने भारत को मेडिकल सप्लाई पहुंचा रही फ्लाइट्स रोकी, क्या ऐसी ही मदद का दिया था ऑफर?

China cheats india again

चीन ने कोरोना संकट से जूझ रहे भारत को मदद का ऑफर देकर एक बार फिर धोखा दिया है। चीन की सरकारी विमानन कंपनी सिचुआन एयरलाइंस ने भारत के लिए अपनी सभी कार्गों फ्लाइट्स को अगले 15 दिनों के लिए रोक दिया है।

हाइलाइट्स:

  • चीन ने भारत को मेडिकल सप्लाई पहुंचा रही कार्गो फ्लाइट को रोका
  • चीनी सरकारी विमानन कंपनी ने आयात में कमी का बनाया बहाना
  • चीनी मेडिकल कंपनियों ने इक्यूपमेंट्स के दाम 30 से 40 फीसदी बढ़ाए

पेइचिंग
चीन ने कोरोना संकट से जूझ रहे भारत को मदद का ऑफर देकर एक बार फिर धोखा दिया है। चीन की सरकारी विमानन कंपनी सिचुआन एयरलाइंस ने भारत के लिए अपनी सभी कार्गों फ्लाइट्स को अगले 15 दिनों के लिए रोक दिया है। इन विमानों के जरिए भारत को अतिआवश्यक ऑक्सीजन कांसंट्रेटर और अन्य चिकित्सीय उपकरणों की आपूर्ति की जा रही थी। अब चीन के निजी कारोबारियों से भारत को मेडिकल इक्यूपमेंट्स मिलने में परेशानी खड़ी हो गई है।

आपदा में अवसर तलाश रहा चीन
यह भी शिकायत आ रही है कि चीनी मैनूफैक्चर्स ने ऑक्सीजन संबधी इक्यूपमेंट्स की कीमतों को 35 से 40 फीसदी तक बढ़ा दिया है। इतना ही नहीं, चीन से भारत को सामान पहुंचाने में लगने वाली फीस में भी 29 फीसदी की बढ़ोत्तरी की गई है। शंघाई में माल भेजने की कंपनी साइनो ग्लोबल लॉजिस्टिक के सिद्धार्थ सिन्हा ने पीटीआई को बताया कि सिचुआन एयरलाइंस के फैसले से दोनों देशों के कारेाबारियों द्वारा तेजी से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदने और भारत को भेजने में बाधा उत्पन्न होगी।

कंपनी ने कार्गो फ्लाइट सस्पेंड करने पर बहाए घड़ियाली आंसू
सिचुआन एयरलाइंस का हिस्सा सिचुआन चुआनहांग लॉजिस्टिक कॉरपोरेशन लिमिटेड के मॉर्केटिंग एजेंट के जारी पत्र में कहा गया कि एविएशन कंपनी शियान-दिल्ली सहित छह मार्गों पर अपनी कार्गो सेवा स्थगित कर रही है। यह फैसला सीमा के दोनों ओर के निजी कारोबारियों द्वारा चीन से ऑक्सीजन कंसट्रेटर खरीदने के गंभीर प्रयासों के बीच आया है। चीन की यह एविएशन कंपनी अगले 15 दिनों में फैसले की समीक्षा करेगी।

आयात में कमी का हवाला देकर सस्पेंड की फ्लाइट
इस लेटर में कंपनी ने कहा है महामारी की स्थिति (भारत) में अचानक हुए बदलाव की वजह से आयात की संख्या में कमी आई है। इसलिए अगले 15 दिनों के लिए उड़ानों को स्थगित करने का फैसला किया गया है। भारतीय मार्ग हमेशा से ही सिचुआन एयरलाइंस का मुख्य रणनीतिक मार्ग रहा है। ऑपरेशन के रुकने से हमारी कंपनी को भारी नुकसान होगा। हम इस बिन बदली हुई परिस्थिति के लिए माफी मांगते हैं।

भारत को मेडिकल इक्यूपमेंट्स की आपूर्ति में आ सकती है बाधा
चीन से कार्गो फ्लाइट्स की सर्विस सस्पेंड होने पर कई व्यापारियों ने चिंता जताई है। उनका कहना है कि अब इन उपकरणों को भेजना और चुनौतीपूर्ण होगा अैर उन्हें सिंगापुर और अन्य देशों के रास्ते विभिन्न विमानन कंपनियों द्वारा भेजना होगा जिससे अति आवश्यक इन उपकरणों की आपूर्ति में देरी होगी। यह भी कहा जा रहा है कि भारत में कोविड-19 की स्थिति का हवाला देकर उड़ानों का स्थगन आश्चर्यजनक है क्योंकि भारत जाने वाले चालक दल के किसी सदस्य को बदला नहीं जाता और चालक दल के सदस्य ही विमान को वापस लाते हैं।

Source – navbharattimes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *