गजब Google! कंपनी के लिए वरदान बना Work From Home, एक साल में बचा लिए इतने हजार करोड़ रुपये

google saving by working from home

अपने कर्मचारियों पर दिल खोल कर करोड़ रुपये खर्च करने दुनिया की सबसे बड़ी सर्च इंजन कंपनी Google ने आपदा में भी अवसर खोज लिया है। इस समय कंपनी के ज्यादातर कर्मचारी घरों से काम निपटा रहे हैं, और यही बात कंपनी के लिए फायदेमंद साबित हुआ है। जानिए क्या है पूरा मामला।

अपने कर्मचारियों पर दिल खोल कर खर्च करने Google बुरे से बुरे समय में भी आगे बढ़ने के अवसर खोज लेती है, ऐसे ही Google को नंबर वन नहीं कहा जाता। अब कंपनी ने कोरोना महामारी ने भी अपने लिए अवसर खोज निकाला है।

एक तरफ COVID-19 प्रतिबंध हटने के साथ, ज्यादातर लोग ऑनलाइन ट्रैवल और होटल बुक कर रहे हैं, जो Google के एडवरटाइजिंग बिजनेस के अच्छा है। वहीं दूसरी ओर Google के ज्यादातर कर्मचारी ट्रैवल नहीं कर रहे हैं बल्कि घर से कामकाज निपटा रहे हैं और यह बात भी Google के लिए फायदेमंद साबित हो रही है।

एक साल में बचा लिए 7,400 करोड़ रुपये
दरअसल, पहली तिमाही के दौरान, Google की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट ने पिछले साल की समान अवधि की तुलना में कंपनी के प्रमोशन, ट्रैवल और एंटरटेनमेंट के खर्चों में $ 268 मिलियन (लगभग 1,980 करोड़ रुपये) की बचत की है, और यह सिर्फ और सिर्फ COVID-19 की वजह से मुमकिन हुआ है। सालाना तौर पर, यह $ 1 बिलियन (लगभग 7,400 करोड़ रुपये) से अधिक होगा।

इस वजह से आई खर्चों में कमी
दरअसल, अल्फाबेट ने इस साल की शुरुआत में अपनी एनुअल रिपोर्ट में कहा था कि साल 2020 में एडवरटाइजिंग और प्रमोशनल खर्चों में $1.4 बिलियन (लगभग 10,360 करोड़ रुपये) की कमी आई है क्योंकि कंपनी ने महामारी के दौरान खर्चों को घटाया, रोका या कैंपेन को रीशेड्यूल और कुछ इवेंट्स को केवल डिजिटल फॉर्मेट में बदल दिया। ऐसे में ट्रैवल और एंटरटेनमेंट खर्च $371 मिलियन (लगभग 2,740 करोड़ रुपये) कम हो गया.

महामारी में कंपनीका रेवेन्यू 34% तक बढ़ा

  • ये बचत हजारों और कर्मचारियों को काम पर रखने के साथ आने वाली कई अन्य लागतों की भरपाई करती है। महामारी ने कंपनी को 34% रेवेन्यू बढ़ाने के बावजूद, पहली तिमाही के लिए अपनी मार्केटिंग और एडमिनिस्ट्रेटिव लागतों को प्रभावी ढंग से समान बनाए रखने में मदद की।
  • Google मसाज टेबल, कैटरेड कूजिन्स और कॉर्पोरेट रिट्रीट जैसे भत्तों के लिए काफी पॉपुलर है, जिन्होंने सिलिकॉन वैली के वर्क कल्चर को बहुत प्रभावित किया है। अधिकांश Google स्टाफ ने मार्च 2020 से इन भत्तों के बिना काम किया है।

ऑफिस से काम शुरू करने की योजना बना रही कंपनी
हालांकि, Google इस साल के अंत में दोबारा ऑफिस से काम शुरू करने की योजना बना रही है। चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर रूथ पोराट ने निवेशकों को बताया कि कंपनी एक “हाइब्रिड” मॉडल की योजना बना रही है, जिसमें कर्मचारियों की जगह पहले की तुलना में कम है। पोराट ने यह भी कहा कि Google दुनिया भर में Real Estate में निवेश करना जारी रखेगा।

Source – navbharattimes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *