एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट! 2023 तक पूरा हो जाएगा Jewar Airport, जानिए क्या है योगी सरकार का प्लान

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath) ने जेवर हवाई अड्डे (Jewar Airport) को एशिया के सबसे बड़े हवाई अड्डे (Asia Biggest Airport)के रूप में विकसित करने की योजना बनाई है. राज्य सरकार (UP हवाई अड्डे के लिए 2,000 करोड़ अलग रखने का प्रस्ताव दिया गया है. इसकी जानकारी उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने सोमवार को दी.

Yogi Adityanath) ने जेवर हवाई अड्डे (Jewar Airport) को एशिया के सबसे बड़े हवाई अड्डे (Asia Biggest Airport)के रूप में विकसित करने की योजना बनाई है. राज्य सरकार (UP Government) द्वारा जेवर हवाई अड्डे के लिए 2,000 करोड़ अलग रखने का प्रस्ताव दिया गया है. इसकी जानकारी उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने सोमवार को दी. वित्त मंत्री सुरेश खन्ना(Finance Minister Suresh Khanna)ने सोमवार को विधानसभा में वित्त वर्ष 2021-22 (State Assembly budget 2021-22) के लिए पांच लाख 50 हजार 270 करोड़ 78 लाख रुपये का बजट पेश किया. इस दौरान उन्होंने यूपी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना जेवर एयरपोर्ट का भी विशेषतौर पर उल्लेख किया. बता दें कि यूपी सरकार ने आज उत्तर प्रदेश विधानसभा में अपना पहला पेपरलेस बजट पेश किया.

जेवर एयरपोर्ट के लिए 6 रनवे बनाए जाएंगे
वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने अपने बजट भाषण में ऐलान किया जेवर एयरपोर्ट के पास यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) एक इलेक्ट्रॉनिक सिटी (Electronic City) की स्थापना की जाएगी. उन्होंने कहा कि जेवर अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट के लिए 6 रनवे बनाए जाएंगे. राज्य सरकार ने पहले प्रस्तावित दो की तुलना में जेवर एयपोर्ट के रनवे की संख्या बढ़ाकर छह कर दी है. हालांकि, बाद में 2 और रनवे बनाए जाएंगे. इस बार जेवर एयरपोर्ट के लिए 2000 करोड़ का बजट निर्धारित किया गया है. एयरपोर्ट बनने के बाद यहां तेजी से विकार होगा और रोजगार के नए अवसर भी पैदा होंगे. इसके साथ ही बुंदेलखंड में भी रक्षा इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर की स्थापना का लक्ष्य रखा गया है.

यूपी सरकार ने जेवर में हवाई अड्डे के लिए यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (YEIDA) को अपनी ओर से कार्यान्वयन एजेंसी के रूप में नियुक्त किया है. जेवर में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट विकसित करने के लिए ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी को चुना गया है. हवाई अड्डे का पहला चरण 1,334 हेक्टेयर में फैला होगा और इसमें 4,588 करोड़ खर्च होंगे. इसके 2023 तक पूरा होने की उम्मीद है.

Source – News 18

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *