आसमानी बिजली मौत बनकर गिरी, 67 मरे, जानें- बिजली गिरने से उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश में कितने-कितने लोगों की गई जान

sky lighting in uttar pradesh

Lightning Strike News: आसमानी बिजली गिरने से अलग-अलग राज्यों में कई लोगों की मौत हो गई है. दर्जनों लोगों की मौत के बाद यूपी के मुख्यमंत्री और लोकसभा के अध्यक्ष ने शोक प्रकट किया है.

Lightning Strike News: उत्तर प्रदेश के कई जिलों में रविवार को मानसूनी बारिश के कारण लोगों को गर्मी से राहत तो दिलाई लेकिन कई परिवारों के लिए यह कहर बनकर टूटा. राज्य में आकाशीय बिजली गिरने से करीब 40 लोगों की मौत हो गई है जबकि इस आपदा में दर्जनों लोग घायल हो गए हैं. वहीं राजस्थान में भी बिजली गिरने के कारण करीब 20 लोगों की जान चली गई. वहीं मध्य प्रदेश में बिजली गिरने से सात लोगों की मौत हो गई.

मृतकों के परिजनों को मिलेगी सहायाता राशि

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आकाशीय बिजली गिरने के कारण सभी 40 मृतकों के प्रति शोक संवेदना प्रकट की है. मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को सहायता राशि मुहैया करवाए जाने का निर्देश जारी किया है. सीएम योगी ने आदेश दिया कि घायल लोगों का समुचित उपचार किया जाए.

राजस्थान में 20 की मौत

वहीं राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में बिजली गिरने की कई घटनाओं में 7 बच्चों समेत 20 लोगों की जान चली गई. इस प्राकृतिक आपदा में 21 अन्य लोग घायल हो गए हैं. घायलों का इलाज जारी है.

सीएम गहलोत ने किया मुआवजा देने का एलान

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मृतकों के परिजनों को राज्य सरकार की ओर से 5 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है. मृतकों को 4 लाख रुपये इमरजेंसी रिलीफ फंड से दिया जाएगा जबकि 1 लाख रुपये मुख्यमंत्री राहत कोष से दिया जाएगा.

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शोक प्रकट किया

आकाशीय बिजली गिरने की घटना में हुई मौत को लेकर कोटा के सांसद और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शोक प्रकट किया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ”आकाशीय बिजली गिरने से संसदीय क्षेत्र कोटा की कनवास तहसील के गरड़ा गांव में चार बच्चों की मृत्यु और कुछ बच्चों के घायल होने तथा धौलपुर जिले के बाड़ी क्षेत्र में तीन बच्चों की मृत्यु का समाचार हृदयविदारक है. असीम दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं शोकाकुल परिजनों के साथ है.”

Source – ABP Live

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *